देशसेवा के लिए तैयार नक्सली,कहा- सरहद पर मर-मिटने को हैं तैयार

 एसएसपी गरिमा मलिक का कहना है कि नक्सल विचारधारा के साथ जुड़े हुए नक्सलियों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए ऑपरेशन विश्वास चल रहा है। उसी कड़ी में तीन नक्सलियों ने सरेंडर किया गया है। इनमे शामिल हैं सबजोनल कमांडर ज्योति पासवान, नंदकिशोर राम व बृजभूषण रविदास।

एसएसपी ने बताया कि ये सभी नक्सली कई प्रमुख घटनाओं में शामिल रहे हैं। 2013 औरंगाबाद सड़क निर्माण कैंप में पुलिस के हथियार लूटने की घटना, 2013 में परैया थाना पर हमले की घटना, 2010 में पुलिस के साथ मुठभेड़ के साथ ही इसी तरह की कई अन्य गंभीर घटनाओं में ये तीनों शामिल रहे हैं।
एसएसपी ने बताया कि इन सभी नक्सली के सरेंडर के बाद सरकार की योजना के तहत इन्हें एकमुश्त लाभ दिया जाएगा। वहीं तीन साल तक कुछ राशि इन्हें प्रतिमाह दी जाएगी।
वहीं सरेंडर करने वाले सबजोनल कमांडर ज्योति पासवान ने कहा कि सरेंडर करने के बाद वो मुख्यधारा से जुड़कर देश की सेवा करने के लिए तैयार हैं। मांझी ने कहा कि पकिस्तान का जो आज हमारे देश के साथ रवैया है और हमारे देश के जवानों पर पीछे से वार कर रहा है ये पाकिस्तान का कायरता वाली हरकतें हैं। भारत सरकार और व्यवस्था अगर परमिशन दे तो हम देश के लिए सीमा पर मर-मिटने के लिए तैयार हैं।

Leave a Reply